July 15, 2024
Strategies

हरतालिका तीज 2023: मुहूर्त टाइमानि्र्धारण

हरतालिका तीज 2023: मुहूर्त टाइमानि्र्धारण

हरतालिका तीज नेपाल और भारतीय कलेंडर के अनुसार हर साल मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण हिंदू त्योहार है। यह त्योहार भाद्र माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाता है और मुख्य रूप से पति की दीर्घायु और जीवनानंद की कामना के साथ पत्नी द्वारा मनाया जाता है। इस दिन महिलाएं व्रत रखती हैं और विशेष रूप से मीठी मिट्ठाई बनाती हैं।

मुहूर्त

हरतालिका तीज 2023 का पर्व 25 सितंबर, शुक्रवार को है। इस दिन तीज का व्रत रखा जायेगा और पूजा-अर्चना किया जाएगा। व्रत को सूर्यास्त के समय खोला जाता है और चाँद सूर्य के नीचे आने के बाद समाप्त किया जाता है। इस दिन कुछ विशेष समयानुसार व्रत और पूजा किया जाता है जो सौभाग्य और पति की लंबी आयु की कामना को पूरा करता है।

व्रत विधि

  1. स्नान: सुबह उठकर नहाने के बाद व्रत करना शुरू करें।
  2. कथा सुनना: हरतालिका कथा को सुनें जो पत्नी के प्रेम और वफादारी की कहानी है।
  3. पूजा: शिव-पार्वती की पूजा करें और मीठी मिठाई उन्हें आर्पित करें।
  4. नियमित जाप: ऊं नमः शिवाय और ऊं नमः पार्वत्यै नमः मंत्र का जाप करें।
  5. भोजन: तीज के व्रत के दौरान एक बार भोजन अंगारिक करें।

पारंपरिक महत्व

हरतालिका तीज का उत्सव परंपरागत रूप से मनाया जाता है और यह स्त्री-पुरुष के रिश्तों में सौभाग्य, सुख, और समृद्धि की कामना को प्रकट करता है। यह त्योहार समृद्धि और सुख-समृद्धि का प्रतीक है और हर महिला के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

व्यंजन

हरतालिका तीज के अवसर पर विशेष रूप से घी, चावल, तिल, गुड़, प्रेमियों के संगं पाण्डे, एवं खीर इन मिष्ठान्नों को बनाकर उपहार में प्रस्तुत किया जाता है। ये मिठाई जीवन में मिठास और सुख-समृद्धि के प्रतीक के रूप में सजा करते हैं।

FAQ

1. हरतालिका तीज क्या है?
हरतालिका तीज नेपाल और भारतीय कलेंडर के अनुसार भाद्र माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया को मनाया जाने वाला हिंदू त्योहार है।

2. इस दिन क्या व्रत रखा जाता है?
हरतालिका तीज के दिन महिलाएं व्रत रखती हैं जो सौभाग्य और पति की दीर्घायु की कामना करती हैं।

3. हरतालिका कथा क्या है?
हरतालिका कथा शिव-पार्वती के प्रेम की कहानी है जिसमें पार्वती ने अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखा था।

4. हरतालिका तीज पर कौन-कौन सा भोजन किया जाता है?
हरतालिका तीज पर गुड़, चावल, तिल, गुड़ आदि के मिठाई व्यंजन बनाए जाते हैं और व्रतधारी इन्हें भोजन करते हैं।

5. हरतालिका तीज का मुख्य उद्देश्य क्या है?
हरतालिका तीज का मुख्य उद्देश्य स्त्री-पुरुष के रिश्तों में सौभाग्य, सुख, और समृद्धि की कामना को प्रकट करना है।

6. हरतालिका तीज के लिए कौन-कौन से व्रत विधि हैं?
हरतालिका तीज के लिए स्नान, कथा सुनना, पूजा, नियमित जाप, और भोजन जैसी विविध व्रत विधियाँ होती हैं।

7. हरतालिका तीज का महत्व क्या है?
हरतालिका तीज का महत्व स्त्री-पुरुष के संबंधों में सौभाग्य, सुख, और समृद्धि की कामना को प्रकट करना है।

8. हरतालिका तीज कौन-कौन लोग मनाते हैं?
हरतालिका तीज मुख्य रूप से सुहागिन महिलाएं और समृद्धि-सौभाग्य की कामना रखने वाले लोग मनाते हैं।

9. हरतालिका तीज कैसे मनाई जाती है?
हरतालिका तीज को सुबह स्नान करके व्रत तीर्थ स्थल पर जाकर खोला जाता है और भगवान शिव-पार्वती की पूजा की जाती है।

10. हरतालिका तीज के बाद क्या आयोजन होता है?
हरतालिका तीज के बाद सभी व्रतधारी एकत्रित होकर पूजन व भोजन करते हैं और सौभाग्य, सुख, और समृद्धि की कामनाएं करते हैं।

Avatar for Radhe Gupta

Radhe Gupta

Hello, I am Radhe. I am absolutely in love with writing and by working with News Whizz, I have developed a passion for it. It helps me to stay updated and know what is happening around the globe.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *